Abhishek Dev Goel

February 06, 1995-Sangrur (Punjab), India
Send Message

Corona Ka Kehar !!!

ये किस मोड़ पर दुनिया आ गई
हर तरफ महामारी छा गई
ना जाने कुदरत का है कहर ?
या पड रहा इनसान की ग़लतीयों को भुगतना?
तो अब, दूर रहकर भी मिलकर है लड़ना
कुछ अहम बातों पर गौर है करना
हर हाल में इस जंग से है जीतना।

सावधानी हटने ना दो
दुर्घटना घटने ना दो
समझदार है वो
जो घर पर है आज बैठा
ओर जो घूमा बाहर सीना तान कर
वो खुद तो COVID से जकडा
ओर साथ कितनो को भी ले बैठा
तो अब, दूर रहकर भी मिलकर है लड़ना
कुछ अहम बातों पर गौर है करना
हर हाल में इस जंग से है जीतना।

बुहत लड लिय जात पात पर, बहुत लड़ लिय धम्र के लिए
CORONA नहीं देखता मज़हब किसी का
ये तो एक है सब के लिए
तो अब, विश्व को भी एक है होना
सही समय आ गया है
अब तो इंसानियत का कज़्र अदा करो ना,
तब बच जायेगी ये कायनात
बच जायेगा दुनिया सारी
आओ मिलकर पड जाये हम इस CORONA पे भारी
आओ दिखा दे इनसान की ताकत
क्या इनसान है कर सकता
जब चांद पर ये पहुंच गया
तो CORONA से नहीं लड़ सकता?
जीत जायेंगे हम है विशवास (After Corona War...)
इक नयी मिसाल बनायेंगे
लड़कर इस माहायुध से
इक नया जहान बनायेंगे
तो आओ मिलकर शपथ करे
वातावरण को शुद्ध बनायेंगे
धरती सदा सलामत रहे
खूब सारे पेड़ हम लगायेंगे
चारों तरफ खुशहाली होगी
ओर फिर से ये ही दोहरायेंगे
दूर रहकर नहीं मिलकर है लड़ना
कुछ अहम बातों पर गौर है करना
हर हाल में इस दुनिया को स्वच्छ है रखना।
हर हाल में इस दुनिया को स्वच्छ है रखना।
204 Total read